Breaking News
Home / न्यूज़ पटल / आर्थिक जगत / नकली नोटों को छांटने के लिए मशीनें लीज पर लेगा आरबीआई

नकली नोटों को छांटने के लिए मशीनें लीज पर लेगा आरबीआई

Spread the love

नयी दिल्ली, 23 जुलाई (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक नोटबंदी के बाद जमा हुए 500/1000 रुपये के अप्रचलित नोटों में नकली नोटों को छांटने के लिए 12 मुद्रा सत्यापन प्रणालियां छह महीने के लिए लीज पर लेगा।

केंद्रीय बैंक फिलहाल नोटबंदी के बाद देश भर में जमा हुए 500 व 1000 रुपये के अप्रचलित नोटों को गिनने के काम में जुटा है। सरकार ने आठ नवंबर 2016 की रात को नोटबंदी की घोषणा की थी।

केंद्रीय बैंक ने मई में 18 मुद्रा सत्यापन व प्रसंस्करण प्रणालियों (सीवीपीएस) के लिए वैश्विक टेंडर जारी किया था। हालांकि इस टेंडर को बाद में रद्द कर दिया गया और इस तरह की 12 प्रणालियों के लिए नया टेंडर जारी किया गया है।

टेंडर के अनुसार प्रणाली को 30 नोट प्रति सेकंड की दर से नोटों को छांटना प्रसंस्करण करना होगा।

रपटों के अनुसार रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल ने 12 जुलाई को संसदीय समिति के समक्ष कहा था कि नोटबंदी के बाद जमा किए गए अप्रचलित नोटों की गिनती अभी चल रही है।

ब्रिटेन का इस्लामी उपदेशक आतंकवाद के मामले में जेल की कालकोठरी में भेजा गया

About Oshtimes

Check Also

झामुमो आई.टी. सेल्स

आई.टी. सेल्स : झारखंड में सोशल-मीडिया की लडाई में झामुमो सब पर भारी

Spread the love285Sharesझारखंड में फासीवादियों ने जहाँ एक तरफ गोदी मीडिया के माध्यम से अपने …