Breaking News
Home / न्यूज़ पटल / नेशनल / रामनाथ कोविंद बने भारत के 14वें राष्ट्रपति

रामनाथ कोविंद बने भारत के 14वें राष्ट्रपति

Spread the love
  • 16
    Shares

नई दिल्ली : भारत के 14वें राष्ट्रपति के चुनाव का परिणाम आ चूका है जिसमे श्री राम नाथ कोविंद 65.65% वोटों के साथ जीत दर्ज कराई, वहीँ श्री मति मीरा कुमार को 35.34% वोट मिले | संसद के कमरा नंबर 62 में हो रही थी राष्ट्रपति चुनाव की मतगणना, वोटों के गिनती चार अलग-अलग टेबल पर हुई और कुल 8 राउंड गिनती हुई,  रामनाथ कोविंद को 2930 वोट मिली जिसकी वैल्यू 7,02,044 है, मीरा कुमार को 1,844 वोट मिले जिसकी वैल्यू 3,67,314.77 है | पहले राउंड में हि कोविंद आगे थे । कोविंद को 60,683 वोट मिले थे, जबकि मीरा कुमार को 22,941 वोट मिले थे | सांसदों और 11 राज्यों के मतों की गिनती के दौरान 37 वोट अमान्य करार दिए गए। अरुणाचल प्रदेश में रामनाथ कोविंद को 448 और मीरा कुमार को 24 वोट मिले जबकि दिल्ली के वोटों की गिनती में मीरा कुमार की हुई थी जीत। गुजरात में कांग्रेस ने की क्रॉस वोटिंग वहाँ रामनाथ कोविंद को 132 MLA ने किया वोट जबकि गुजरात में BJP MLAs की तादाद 121 है।

रामनाथ कोविंद की जित पर पीएम मोदी ने ट्विटर पर दी बधाई | ममता बनर्जी ने रामनाथ गोविंद के जीतने की संभावना को देखते हुए उन्हें पहले हि बधाई दे दी थी, उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि ‘रामनाथ कोविंद जी को बधाई, वह हमारे देश के अगले राष्ट्रपति होंगे।’

मध्य प्रदेश के गुना में राष्ट्रपति के लिए चुने गए रामनाथ कोविंद के भाई के घर जश्न मनाया जा रहा है ।
परिणाम आने के बाद मीरा कुमार ने कहा “मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देती हूं जिन्होंने मुझे वोट किया और मुझे राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में चयनित किया था ” साथ हि श्रीमति कुमार ने श्री कोविंद को बधाई देते हुए कहा कि “मैं रामनाथ कोविंद जी को बधाई देती हूं और शुभकामनाएं देना चाहती हूं कि वह चुनौतीपूर्ण समय में संविधान का गरिमा को बनाए रखें”
राष्ट्रपति का पद जितने के बाद श्री कोविंद ने कहा कि “यह मेरे लिए भावुक क्षण है, मैं विश्वास दिलाता हूं कि सर्वे भवंतु सुखिनः के भाव के साथ निरंतर लगा रहूंगा, यह भारतीय परंपरा की महानता का प्रतीक है और मुझे यह जिम्मेदारी दी जानी उस हर व्यक्ति के लिए उदाहरण है जो ईमानदारी से मेहनत करता है” |

 रामनाथ कोविंद की जीत से उनके परिजनों में खुशी।

This post was written by sanjay dash.

The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

About sanjay dash

Check Also

सुदेश महतो

सुदेश महतो सरकार में रहकर भी सीएनटी/एसपीटी के संशोधन को रोकने में नाकाम

Spread the love6Sharesसिल्ली और गोमिया को लेकर सत्ताधारी दल भाजपा और आजसू में टकराव तय …