Breaking News
Home / न्यूज़ पटल / एडिटोरियल / आर्टिकल / विश्व भर में पहला सतत गैस्ट्रोनोमी  दिवस मनाया गया

विश्व भर में पहला सतत गैस्ट्रोनोमी  दिवस मनाया गया

Spread the love

विश्व भर में जून 18, 2017 को पहला सतत गैस्ट्रोनोमी (पाक-पर्यटन) दिवस मनाया गया. इस दिवस को मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा दिसम्बर 21, 2016 को  एक संकल्प के तहत लिया गया। पाक-पर्यटन उन गंतव्यों में किए गए दौरे का उल्लेख करता है जहां स्थानीय खाद्य और पेय यात्रा के लिए मुख्य प्रेरणात्मक कारक हैं

इस दिवस को मनाने का निर्णय दुनिया के प्राकृतिक और सांस्कृतिक विविधता से संबंधित एक सांस्कृतिक अभिव्यक्ति के रूप में पाक-पर्यटन को स्वीकार करता है। यह निर्णय इस बात की भी पुष्टि करता है कि सभी संस्कृति और सभ्यता सतत विकास के एक महत्वपूर्ण समर्थक और योगदानकर्ता है।

सतत पाक-पर्यटन का सतत विकास के तीन आयामों से अंतर-सम्बन्ध होने के कारण, यह निर्णय इस बात पर भी जोर देता है कि सतत पाक-पर्यटन सतत विकास के लक्ष्यों (SDG) की प्राप्ति में इन पहलूवों, जैसे कि कृषि विकास, खाद्य सुरक्षा, पोषण, सतत खाद्य उत्पादन, और जैव विविधता के संरक्षण, को बढ़ावा दे एक महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं।

इसके अलावा, संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2017 को विकास के लिए सतत पर्यटन के अंतर्राष्ट्रीय वर्ष के रूप में स्वीकृति के प्रकाश में, यूएन वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गनाइजेशन (यूएनडब्ल्यूटीओ) गैस्ट्रोनोमी नेटवर्क का उद्देश्य दुनिया भर के शहरों में गैस्ट्रोनोमी पर्यटन के विकास में सहायता करना है।

इसके अतिरिक्त, यूएनडब्ल्यूटीओ गैस्ट्रोफ़ोनोमी नेटवर्क का उद्देश्य गरीबी समाप्त करने, ग्रह की रक्षा, और सभी के लिए समृद्धि सुनिश्चित करने हेतु 17 सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के साथ, सतत विकास के लिए महत्वाकांक्षी 2030 एजेंडा में निर्धारित चरणों को शामिल करना हैं।

8 से 9 मई 2017 को, गैस्ट्रोनॉमी पर्यटन पर तीसरा यूएनडब्लूटीओ सम्मेलन सैन सेबेस्टियन में आयोजित किया गया था। यह पाक-पर्यटन की स्थिरता के सिद्धांतों के सहित गरीबी उन्मूलन, संसाधनों का कुशल उपयोग, पर्यावरण संरक्षण एवं जलवायु परिवर्तन जैसे पहलूवों की ओर प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता हैं।

About Oshtimes

Check Also

झारखंड में बिजली की हालत करेगी रघुबर सरकार की बत्ती गुल

झारखंड में बिजली की हालत करेगी रघुबर सरकार की बत्ती गुल

Spread the love61Sharesझारखंड में बिजली की हालत  झारखंड में बिजली सुधार के नाम पर रघुबर सरकार …