Breaking News
Home / न्यूज़ पटल / एडिटोरियल / आर्टिकल / संघर्ष के दौरान यौन हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीयदिवस: 19 जून

संघर्ष के दौरान यौन हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीयदिवस: 19 जून

Spread the love

19 जून 2017 को संघर्ष के दौरान यौन हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस विश्व स्तर पर मनाया गया। वर्ष 2017 के लिए इस दिवस का विषय “न्याय एवं निवारण के माध्यम से यौन हिंसा के अपराधों को रोकना” (प्रेवेंटिंग सेक्सुअल वायलेंस क्राइम्स थ्रू जस्टिस एंड डेटेरेन्स) था।

इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र संघ 20 जून 2017 को अपने मुख्यालय में एक विस्तृत चर्चा आयोजित कर रहा है। आम जनता इस चर्चा को हैश टैग #EndRapeinWar द्वारा भी फॉलो कर सकती है।

इतिहास:

19 जून 2015 को संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) द्वारा संघर्ष के दौरान यौन हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाये जाने की घोषणा की गयी। इस दिवस का उद्देश्य हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में हो रही यौन हिंसा के खिलाफ लोगों का ध्यान आकर्षित करना है।

इसका अन्य उद्देश्य यौन हिंसा से पीड़ित लोगों को श्रद्धांजलि देना तथा हिंसा की स्थिति में उनके साथ खड़े होना है। यह तिथि सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 1820 के तहत चयनित की गयी तथा इससे हिंसा को रोकने तथा क्षेत्र में शांति स्थापित करने के प्रयासों को मजबूत करने में सहायक माना गया।

इस अवसर पर बोलते हुए संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने कहा कि हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों जैसे यौन शोषण, बलात्कार, अपहरण, मानव तस्करी, यौन गुलामी और जबरन विवाह उनकी दयनीय स्थिति में इजाफा करते हैं।

About Oshtimes

Check Also

मोदी युग अर्थव्यवस्था

मोदी युग में जीवनस्तर में वृधि के पैमाने के हर स्तर पर देश पिछड़ा

मोदी सरकार का एजेण्डा बिल्कुल साफ़ है कि लोग आपस में बँटकर लड़ते-मरते रहें और वे अपने पूँजीपति मालिकों की तिजोरियाँ भरते रहें।