Breaking News
Home / गिरिडीह / संबिधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को संवेदक ने तोड़ कर नाली में डाला

संबिधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को संवेदक ने तोड़ कर नाली में डाला

Spread the love

गिरिडीह :  मरकच्चो प्रखण्ड स्थित बरियारडीह चौक से लगभग दो सौ मीटर दुरी पर कोडरमा-गिरिडीह मुख्य मार्ग के बगल में रामचरण दास के घर के सामने पूर्व से लगा हुवा संविधान के निर्माता बाबा भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा को संवेदक के द्वारा तोड़ कर नाली में डालने का मामला प्रकाश में आया है। मिलीजानकारी के अनुसार कोडरमा गिरिडीह मुख्य मार्ग में निर्माण कार्य कर रहे ठीकेदार आर के ऐस ठीकेदार के प्रतिनिधि बरियारडीह निवासी बिनोद सिंह व मदन यादव द्वारा नाली निर्माण को लेकर जेसीबी मशीन से नाली कोडवाने के क्रम में बाबा भीमराव अंबेडकर जिन्हें देश के संविधान निर्माता के रूप में भी लोग जानते है इनका भब्य प्रतिमा 19 94 में बरियारडीह निवासी रामचरण दास के घर के सामने लगाया गया था । तोड़ कर नाली में 4 जुलाई को लगभग दो बजे दिन में डाल दिया गया और संवेदक ने लेबरों के द्वारा इनकी प्रतिमा को सम्मान पूर्वक उठाने के बजाय घन हथौड़ा से तोड़ कर इनके प्रतिमा का बुराहाल कर नाली में ही छोड़ दिया इस दुखद घटना को सुन कर कोडरमा जिले के कई प्रखण्ड के लोग जिन्हें बाबा भीम राव अम्बेडकर से बिसेष लगाव रहा है ऐसे लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा और इस घटना स्थल पर लोग पहुंचे पहुंचने के बाद इस घटना को लेकर कुछ लोग राजनीत के तहत बरियारडीह पंचायत भवन में प्रखण्ड के बीडीओ ज्ञानमनी एक्का की अध्यच्छता व थाना प्रभारी के अरुण कुमार के मौजूदगी में एक बैठक आहूत की गयी जिसमे मदन यादव व बिनोद सिंह ने इस बात को स्वीकार किया कि इन्हीं दोनों ब्यक्ति के द्वारा बाबा भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा को तोड़ कर नाली में दाल दिया गया और 4 जुलाई के दो बजे दिन से 5 जुलाई के दस बजे दिन तक नहीं उठाया गया इसके बावजूद भी मामले का लीपा पोती करते हुवे दस दिनों में दुसरा प्रतिमा बनाने की बात की जा रही थी इस बात का विरोध जताते हुवे प्रखण्ड के तेलोडीह पंचायत के नारायण दास ने कहा कि यह पूरे राष्ट्र को हुवा हे इसलिए दोसी ब्यक्ति को कानून के हवाले किया जाय वहीं तेलोडीह पंचायत के मुखिया मनिंदर राम ने भी कहा कि बगैर प्रशासन के आदेश का इस प्रतिमा को तोड़ कर नाली में डालकर इस महां पुरुष का अपमान किया गया है ऐसे लोगों को किसी भी हाल में नहीं बकसना उचित नहीं है इन्हें जेल भेजना बहुत जरूरी है । साथ हीं बीजेपी के प्रखण्ड अध्यछ बिजय यादव ने भी इस लीपापोती का विरोध करते हुवे कहा कि चूँकि देश के कानून के निर्माता का घोर अपमान किया गया है इसलिए ऐसे महांपुरुष को अपमानित करने वाले ब्यक्ति को देश द्रोह के मामला के तहत जेल भेजा जाय । पर कुछ ऐसे लोग भी इस बैठक में मौजूद थे जिन्हें आर के एस ठीकेदार व मदन यादव से बिशेष लगाव था किन्ही का विरोध को नहीं मान्य करते हुवे राजनीत कर मामला को राजनीति के तहत रफा दफा करने में लगे रहे और तय किये की पुनः फिर से दस दिनों में अम्बेडकर साहब की प्रतिमा लगाया जाएगा ।ततपश्चात पूर्व जिलाध्यच्छ दलित उत्पीड़न कार्य समिति कोडरमा सुनील कुमार व प्रकाश अम्बेडकर अपने सहयोगियों के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर काफी नाराजगी ब्यक्त करते हुवे प्रशाशन को लिखित आवेदन देते हुवे दोषी ब्यक्तियों पर कानूनी कार्रवाई की मांग किये। इस मौके पर मरकच्चो जीप सदस्य राज कुमार यादव कैलाश यादव राजद डोमचांच प्रखण्ड अध्यछ मनोज रजक राजद पूर्व विधायक प्रतिनिधि संजय दास सरफुदिन मियाँ राजद प्रखण्ड अध्यछ मंजूर यालम मुखिया अशोक दास अनेस्वर सिंह बिनोद सिंह मदन यादव रामचरण दास देवानन्द दास नकुल दास बिनोद दास महेंद्र दास मुकेश यादव हरखू दास रामेस्वर दास सकलदेव दास परमेस्वर यादव।वगैरा सैकड़ों लोग मौजूद थे।

This post was written by sanjay dash.

The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

About sanjay dash

Check Also

सत्ता के बूट

मौजूदा सत्ता के बूट (जूते) भारतीय संविधान से भी मजबूत

Spread the love68Sharesक्या मौजूदा सत्ता के बूट (जूते) भारतीय संविधान से भी ज्यादा मजबूत हैं  …