in , , ,

सरकार आपनार की दरकार

kavita

सरकार आपनार की दरकार

लेबर कोरे अर्जन करी

निज परिवारेर भरण पोषण करी

सुखी  आमार घर  संसार

सरकार आपनार की दरकार

आमार बो स्वप्न सुंदरी

आमार छेले एमोन परी

बाल लीला देखी आनंद भारी

प्रभु लीला ते भ्रमित संसार

सरकार आपनार की दरकार

आमार माँ प्रत्यक्ष देवी

आमार बाबा समाज सेवी

आमी कोरी परिवार सेवा व्यापार

सरकार आपनार की दरकार

आमार जीवने संघर्ष भारी

आमी माँ बाबार आभारी

एमोन शिक्षा पाई आमी

जीवने आनंदेर भरमार

सरकार आपनार की दरकार

मधुर वाणी जीवनेर सार

कदापि न चाही आमी रार

आमार मालिक आमार सृजनहार

सरकार आपनार की दरकार

                     उदय मोहन पाठक

What do you think?

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

इंसाफ़ कि तिजोरी का ऊंचे जातियो कि तरफ़ झुकाव

बहुजन समाज पार्टी की मासिक समीक्षा बैठक संपन्न