Breaking News
Home / न्यूज़ पटल / एडिटोरियल / आर्टिकल / हर पांचवां बच्चा विकसित देशों में गरीब हैं: यूनिसेफ

हर पांचवां बच्चा विकसित देशों में गरीब हैं: यूनिसेफ

Spread the love

हाल ही में प्रकाशित यूनिसेफ की एक रिपोर्ट के अनुसार विकसित देशों में हर पांचवां बच्चा अपने देश के दूसरे बच्चों के मुकाबले गरीब है। इन देशों में करीब 13 प्रतिशत बच्चों की पहुंच पर्याप्त सुरक्षित और पोषक भोजन तक नहीं है। यह आंकडा अमेरिका और ब्रिटेन में 20 फीसदी तक है।

रिपोर्ट में शिक्षा, मानसिक स्वास्थ्य, शराब की लत, आर्थिक अवसर और पर्यावरण आदि मानकों पर 41 उच्च आय वाले देशों में युवाओं की स्थिति का अध्ययन किया गया।

युवाओं की स्थिति के मामले में जर्मनी और नॉर्डिक देश (आइसलैंड, स्वीडन, फिनलैंड, डेनमार्क,  नार्वे) सबसे ऊपर तो रोमानिया, बुल्गारिया एवं चिली निचले पायदान पर रहे।

न्यूजीलैंड और अमेरिका क्रमश: 34वें एवं 37वें स्थान पर रहे। अमेरिका ने गरीबी, भूख, स्वास्थ्य, शिक्षा तथा असमानता के पैमाने पर खराब प्रदर्शन किया। इन देशों में भी खराब स्थिति न्यूजीलैंड में बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति सबसे खराब रही।

यहां 15 वर्ष से 19 वर्ष की उम्र में आत्महत्या की दर अन्य देशों के औसत से करीब तीन गुना ज्यादा पाई गई।

सर्वे में शामिल देशों के युवाओं में मानसिक परेशानी की शिकायत और मोटापे की समस्या ब़़ढती पाई गई। सूची में ऊपर जगह पाने वाले जापान और फिनलैंड जैसे देशों में भी 15 साल की उम्र का हर पांचवां बच्चा मानक शिक्षा नहीं हासिल कर पाता है।

About Oshtimes

Check Also

आदिम

आदिम जनजातियां हासिये पर: इनके हक़ के लिए बुलंद आवाज की जरूरत!

Spread the love119Sharesवर्तमान झारखंड में अनुसूचित जनजाति की सूची के अंतर्गत 32 जनजातियों में से …