Breaking News
Home / पत्रकार / अजाज़ खान / ​झारखंड में बनेगा फोरलेन रोड,1499 पेड़ों को उखाड़ कर दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा

​झारखंड में बनेगा फोरलेन रोड,1499 पेड़ों को उखाड़ कर दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा

Spread the love
  • 1
    Share

​ऐजाज खान

झारखंड में पहली बार बनेगा ऐसा फोरलेन रोड, जहाँ हाइवे बनाने के लिए 1499 पेड़ काटे नहीं जाएंगे, बल्कि इन्हें उखाड़कर दूसरी जगह लगाया जाएगा। 

झारखंड में पहली बार हाइवे बनाने के लिए पेड़ काटे नहीं जाएंगे, बल्कि इन्हें उखाड़कर दूसरी जगह लगाया जाएगा। 62 किमी लंबी रांची-मूरी रोड को फोरलेन बनाया जाना है। इस रास्ते में कुल 4327 पेड़ हैं। इनमें से 1499 पेड़ों को उखाड़ कर दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा। फोरलेन बनाने में करीब 354 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

सड़क किनारे हैं ये पेड़ आम, सीमर, परास, पीपल, कटहल, बकाइन, जिलेबी, गम्हार, सिरिस, अकेसिया, गुलमोहर, बरगद, चमेली, जामुन, करम, बहेरा आदि।

महिलौंग वन क्षेत्र के रेंजर आरके सिंह ने बताया कि पेड़ों को दूसरी जगह शिफ्ट करने में वॉल्वो कंपनी की ट्री ट्रांसप्लांटर मशीन की मदद ली जाएगी। यह मशीन एक दिन में 20 से 30 पेड़ उखाड़ कर शिफ्ट कर सकता है। यह पेड़ों की दूरी पर निर्भर करता है। शिफ्ट होने वाले ये सभी पेड़ 14 इंच से ज्यादा चौड़ाई के हैं। इससे कम चौड़ाई के 1717 पेड़ कटेंगे। इनकी आयु खत्म हो चुकी है या ये सूख चुके हैं। उन्होंने बताया कि शिफ्ट और कटने वाले पेड़ों की नंबरिंग की जा चुकी है। इसकी जिम्मेदारी जेआरडीसीएल कंपनी को दिया गया है। पेड़ उखाड़ने और फिर से लगाने वाली मशीन भी आ चुकी है। उन्होंने बताया कि वन विभाग ने नॉन फॉरेस्ट एरिया में पेड़ काटने का अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) 18 जून को दे दिया है।

About Oshtimes

Check Also

सत्ता के बूट

मौजूदा सत्ता के बूट (जूते) भारतीय संविधान से भी मजबूत

Spread the love68Sharesक्या मौजूदा सत्ता के बूट (जूते) भारतीय संविधान से भी ज्यादा मजबूत हैं  …