Breaking News
Home / ओम प्रकाश रमण

ओम प्रकाश रमण

ज्योतिराव फुले : क्यों दलित-आदिवासी-मूलवासी के प्रतीकों को भूल जाती है रघुवर सरकार ?

ज्योतिराव फुले स्त्री मुक्ति के द्योतक

ज्योतिराव फुले स्त्री मुक्ति के द्योतक : क्यों दलित-आदिवासी-मूलवासी के प्रतीकों याद करना भूल जाती है रघुवर सरकार ? ज्योतिराव फुले जी की पूण्यतिथि झारखंड में भी दलित संस्थाओं समेत कई अन्य सस्थानों ने मनाई, लेकिन अचंभित यह है कि झारखंड सरकार ने इन्हें याद करना जरूरी नहीं समझा। यह …

Read More »

मनरेगा : झारखण्ड राज्य में भाजपा नेतृत्व वाली सरकार की ढोल का पोल

रघुबर दास सरकार की बड़ेबोल के बावजूद झारखण्ड राज्य में मनरेगा मज़दूरों को समय पर भुगतान न मिलने जैसे कई अधिकारों का व्यापक स्तर पर उल्लंघन हुआ है। भाजपा नेतृत्व वाली झारखंड सरकार राज्य की जनता को रोजगार देने के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दर्शाने के लिए हर हाथ को काम …

Read More »

बाबासाहब अम्बेडकर और बुद्ध जैसे महामानव को ही सभ्यता डालते हैं

बाबासाहब

बाबासाहब: 6 दिसंबर महापरिनिर्वाण दिवस एवं संकल्प दिवस वर्ष 2017 कल्पप्रवर्तक, बहुजन समाज एवं महिलाओं के मुक्तिदाता धम्मचक्र प्रवर्तक डॉ बाबासाहब आंबेडकर महापुरुषों की श्रेणी में आगे देखते हैं, क्योंकि नेताओं के कार्यकाल 25 से 30 साल होते हैं, महापुरुषों के कार्यकाल 200 से 300 साल तक चलता है, लेकिन …

Read More »

स्त्री मुक्ति के पक्षधर व जाति उन्मूलन आन्दोलन के योद्धा ज्योतिबा फुले

ज्योतिबा फुले

स्त्री मुक्ति के पक्षधर व जाति उन्मूलन आन्दोलन के योद्धा ज्योतिबा फुले आज ज्योतिबा फुले का स्मृतिदिन है। लगभग 169 वर्ष पहले ज्योतिबा फुले ने बालिकाओं के लिए पहला विद्यालय खोलने का निर्णय लिया था। विधवा विवाह का समर्थन, विधवाओं के बाल कटने से रोकने के लिए नाइयों की हड़ताल, …

Read More »

रांची में 14 नवंबर को JMM का विशाल धरना

मौजूदा झारखंड सरकार के “अधिसूचित भूमि अर्जन”, “पुनर्वासन और पुनव्यवस्थापन” के विरुद्ध उचित प्रतिकार और “पारदर्शिता अधिकार अधिनियम” 2013 में संशोधन के विरोध में रांची के राज्यपाल भवन में प्रातः 10:30 बजे प्रदर्शन एवं धरना करेगी।

Read More »

रात 8 नवम्बर प्रधान सेवक ने कहा ‘मित्रों ‘ उधर शेयर बाज़ार धड़ाम : सुदिव्य कुमार सोनू

सुदिव्य सोनू

गिरिडीह के अम्बेडकर चौक में 8 नवम्बर 2017 को झारखण्ड के शेष विपक्षी दलों ने काले दिवस के रूप में मनाया। इस कार्यक्रम झारखण्डमुक्ति मोर्चा के विधायक प्रत्यासी श्री सुदिव्य कुमार सोनू ने अपने जोरदार भाषण में कहा कि इधर रात 8 नवम्बर २०१६ को प्रधान सेवक ने कहा 'मित्रों ' उधर शेयर बाज़ार धड़ाम

Read More »

असली काला धन यहां छुपा है ‘पैराडाइज पेपर्स’ -मुकेश असीम

टैक्स पनाहगाह (Haven) क्या हैं और इनकी भूमिका पहले स्विस बैंकों, मॉरीशस और अब पनामा - इन टैक्स जन्नतों की चर्चा हमने सुनी है और ज्यादातर लोग इन्हें कुछ अपराधी संस्था जैसी चीज समझते हैं लेकिन ऐसा नहीं है, ये विश्व पूँजीवादी व्यवस्था का एक अहम हिस्सा हैं और उसके अन्तर्गत बिल्कुल कानूनी हैं। इनका जन्म २ तरह से हुआ - कुछ थोडे - स्विस बैंक, लक्जेमबर्ग, मोनाको, आदि

Read More »

झारखण्ड प्रदेश में सरकार का सर्कस शो जारी! – हेमंत सोरेन

हेमंत सोरेन

राज्य में “सर्कस का शो” जारी है। अभी ‘‘माईनिंग शो’’ चल रहा है। इसके बाद ‘‘सरकार के तीन वर्ष पूरे होने का शो’’ चलेगा। इसकी भी तैयारी प्रारंभ हो गयी है। इसके बाद गोड्डा में ‘‘अडाणी का शो’’ शुरु होने वाला है। आपको पता होगा, इस सरकार ने कुछ वर्ष पूर्व ही ‘‘मेगा फुड पार्क’’ का उद्घाटन बडे ताम-झाम से किया था!

Read More »

भारत को मीडियाकर्मियों के लिए एशिया का सबसे खतरनाक देश

मीडियाकर्मी

रिपोर्टर्स विदआउट बॉर्डर्स ने अपनी वाषिर्क रिपोर्ट में कहा है कि साल 2015 में दुनिया भर में कुल 110 पत्रकार मारे गए हैं, जिनमें नौ भारतीय पत्रकार शामिल हैं।

Read More »

वेश्‍यावृत्ति इसलिए कायम है क्योंकि भारी संख्या में भूखी-नंगी लड़कियाँ मौजूद हैं

वेश्‍यावृत्ति

अकेले भारत में ही लगभग 30 लाख से ज्यादा वेश्याएं हैं। इनमें 12 से 15 साल तक की करीब 35 प्रतिशत लड़कियाँ हैं जो इस अमानवीय धन्धे में फँसी हुई हैं। हर साल लाखों औरतों और लड़कियों की एक जगह से दूसरी जगह तस्करी की जाती है और जबरन इस धन्धे में धकेला जाता है।

Read More »

त्‍योहार समाज में अमीरों के लिए ‘स्‍टेटस सिंबल’ बनकर रह गये

त्‍योहार

होली-दिवाली-दशहरा---- सभी त्‍योहार समाज में अमीरों के लिए 'स्‍टेटस सिंबल' बनकर रह गये हैं। जिसकी गॉंठ में जितना पैसा, उसका त्‍योहार उतना ही रौशन और रंगीन। आम लोगों के लिए तो त्‍योहार बस भीषण तनाव ही लेकर आते हैं।

Read More »

भीड़ की हिंसा – समाज का हत्यारा चेहरा या बेचेहरा हत्यारा? (कविता कृष्णपल्लवी)

भीड़ की हिंसा

भीड़ की हिंसा -बेचेहरा हत्यारा या समाज का हत्यारा चेहरा ये अतिमहत्‍वपूर्ण लेख जरूर पढ़ें। थोड़ा लम्‍बा है पर जब आप पूरा पढ़ लेंगे तो आपको पता चल जायेगा कि इस अतिरिक्‍त आग्रह का क्‍या कारण है। पहली बार जब ख़बर आयी कि हमारे दोस्‍तों का कत्‍ल किया जा रहा …

Read More »

जय शाह का केस क्या है? क्या है इस मामले का अन्धरुनी सच

जय शाह

जय शाह ! अमित शाह के पुत्र  के पास 16000 गुना कमाई कहाँ से आई? जवाब मिला की राजेश खंडवाला से 15.78 करोड़ का ऋण लिया गया है, राजेश खंडवाला परिमल नथवाणी के संबंधी हैं, परिमल नथवाणी झारखण्ड से बीजेपी समर्थित राज्य सभा सांसद है और अम्बानी की रिलायंस कंपनी …

Read More »

धर्म परिवर्तन करनेवाले परिवारों का राशन-पानी बंद, क्या है पूरा मामला?

धर्म परिवर्तन

झारखण्ड, लातेहार जिले में  पेसरार पंचायत के रेहलदाग गांव में धर्म परिवर्तन करनेवाले एक दर्जन परिवारों का राशन-पानी गांववालों ने बंद कर दिया गया  है. इनका गुनाह सिर्फ इतना है कि इन्होंने दुर्गा पूजा चंदे की पूरी राशि नहीं दे पाए. नतीजतन इन परिवारों पर पुराना धर्म अपनाने का दबाव …

Read More »

आदिवासी महिला पार्वती मुर्मू को क्या मिल सकेगा मौजूदा सरकार से न्याय?

आदिवासी महिला पार्वती मुर्मू

रांची। चका चोंध और तामझाम के बिच नेता राजेंद्र जी का कार्यक्रम समाप्तिउपरांत राँची राज्यभवन के पास कथित धरना स्थल पर अफरातफरी मच गयी। पात्रकार भी उत्सुकतावस तफतीस के प्रयास में जुट गए कि आखिर मामला क्या है? पता चला कि गरीब जनता नेता जी के लिए नहीं बल्कि अपने …

Read More »

डेंगू फिर फैल रहा है। बात अभी भी वही है जो दो साल पहले थी।

डेंगू

मोटे तौर पर देखा जाए तो प्रति 1 लाख की जनसंख्या में से 88 लोग इस बीमारी का शिकार हर साल हो जाते हैं। जाहिर है कि ये आंकड़े देश के स्वास्थ्य की भयावह तस्वीर पेश करते हैं। लेकिन इससे भी भयावह वह तस्वीर है जो यह मानवता विरोधी व्यवस्था इन बीमारियों की रोकथाम और इलाज के दौरान प्रस्तुत करती है।

Read More »

झारखण्ड में भी भाजपा सरकार के खिलाफ विपक्ष ने भरी हुंकार

झारखण्ड हेमंत सोरेन

मेदिनीनगर ( झारखण्ड ) जिले के पांडू थाना क्षेत्र अंतर्गत रत्नाग के अनशनकारी किसान गुप्तेश्वर सह ने आरोप लगाया कि किसानों के साथ यह सरकार अन्याय कर रही है। वित्तीय वर्ष 2013-14 के फसल बीमा का भुगतान अब तक नहीं किया गया है। अविलंब भुगतान की मांग करते हुए वे …

Read More »

गोरक्षा : गाली देते हुए कहते हैं, जिसको खाना है खाए, न खाना हो न खाए!

गोरक्षा

सरकार की गोरक्षा के चक्कर में पशुधन ही किसानों का दुश्मन हो गया है’ ग्राउंड रिपोर्ट: अब खेती में बैलों का उपयोग नहीं होता। सरकार की गोरक्षा अभियान के तहत बूचड़खाने बंद होने के बाद उन्हें ख़रीदने वाला भी कोई नहीं। बड़ी संख्या में आवारा जानवर खेतों को तबाह कर …

Read More »

माला जाति के 1200 दलितों का साामाजिक बहिष्कार जारी -आनन्द सिंह

माला जाति के 1200 दलितों

तटीय आन्ध्र में जाति‍ व्यवस्था के बर्बर रूप की बानगी चार महीने से भी अधिक समय से जारी है माला जाति के 1200 दलितों का साामाजिक बहिष्कार… महात्मा गाँधी की मूर्तियों के बग़ल में अम्बेडकर की मूर्ति स्थापित करने के कारण माला जाति के 1200 दलितों का साामाजिक बहिष्कार राम …

Read More »

अय्यंकली, फुले, पेरियार के आन्‍दोलनों का एक आलोचनात्‍मक विवेचन video

अय्यंकली, फुले, पेरियार के आन्‍दोलनों

जाति विरोधी आन्‍दोलन के तीन महत्‍वपूर्ण व्‍यक्तित्‍व अय्यंकली, फुले, पेरियार के आन्‍दोलनों का एक आलोचनात्‍मक विवेचन प्रिय साथियो, जाति प्रश्‍न पर हुई वर्कशॉप का आज छठा वीडियो अपलोड किया है। इस वीडियो में आधुनिक भारत के जाति विरोधी आन्‍दोलन के तीन महत्‍वपूर्ण व्‍यक्तित्‍व अय्यंकली, फुले, पेरियार के आन्‍दोलनों का एक …

Read More »