Breaking News
Home / न्यूज़ पटल (page 4)

न्यूज़ पटल

न्यूज़ पटल main news category

ओस कण पर जब उदीयमान सूर्य की किरणें पड़ती हैं, ओस कण से सतरंगी किरणें निकलने लगती हैं जो एक मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करता है साथ ही शीतल सुखद एहसास भी प्रदान करता है।
इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति हेतु ओस टाइम्स आपके समक्ष प्रस्तुत है जो समाचार, विचार, समसामयिक लेख, चिंतन, मनोरंजन, स्वास्थ्य, ज्योतिष, वास्तु, खेल के सभी आयामों का खजाना अविराम उपलब्ध कराता रहेगा।
तभी तो बदलते परिवेश की ख़बरें महिला जगत, बाल जगत की खबरें नए नए शोध एवं खोज की खबरे भी ओस टाइम्स का खास आकर्षण होगा।

 

ओस कण पर जब उदीयमान सूर्य की किरणें पड़ती हैं, ओस कण से सतरंगी किरणें निकलने लगती हैं जो एक मनोहारी दृश्य प्रस्तुत करता है साथ ही शीतल सुखद एहसास भी प्रदान करता है।
इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति हेतु ओस टाइम्स आपके समक्ष प्रस्तुत है जो समाचार, विचार, समसामयिक लेख, चिंतन, मनोरंजन, स्वास्थ्य, ज्योतिष, वास्तु, खेल के सभी आयामों का खजाना अविराम उपलब्ध कराता रहेगा।
तभी तो बदलते परिवेश की ख़बरें महिला जगत, बाल जगत की खबरें नए नए शोध एवं खोज की खबरे भी ओस टाइम्स का खास आकर्षण होगा।

किसान आन्दोलन का राजनीतिक अर्थशास्त्र के दृष्टिकोण से परिप्रेक्ष्य क्या है ?

किसान आन्दोलन

मौजूदा दौर के किसान आन्दोलन और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने का सवाल: – अनु राठी पिछले कुछ समय से देश के अलग–अलग हिस्सों में किसान आन्दोलन उठते रहे हैं। हाल में राजस्थान के सीकर और कई अन्य ज़ि‍लों में हुए किसान आन्दोलन की भी काफ़ी चर्चा है। इस …

Read More »

दुर्घटना सिर्फ उसी स्‍टेशन पर नहीं बल्कि बहुत अन्‍य स्‍टेशन पर इंतजार कर रही है

दुर्घटना

मुम्‍बई में हुई 22 लोगों की मौत दुर्घटना नहीं बल्कि हत्‍या है- नौजवान भारत सभा मुंबई में एक बेहद दर्दनाक घटना घटी। एलफिन्‍सटन रोड़ व परेल स्‍टेशन के बीच के एक बेहद पतले पुल पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मृत्‍यु हो गई व 30 से ज्‍यादा घायल हो …

Read More »

भोतमांगे परिवार के लिए 29 सितम्बर 2006 का दिन एक काला दिन

भैयालाल भोतमांगे

29 सितम्‍बर 2006 का वो दिन काले शब्‍दों में दर्ज है। उस दिन खैरलांजी के भोतमांगे परिवार के साथ वहां के दबंग कुनबी परिवार ने जो किया, उसने देश के हर संवेदनशील व्‍यक्ति को हिलाकर रख दिया। उसके बाद भी भोतमांगे परिवार को पूरी तरह न्‍याय नहीं मिला। न्‍याय व्‍यवस्‍था …

Read More »

क्रान्ति ईश्वर-विरोधी हो सकती है लेकिन मनुष्य-विरोधी नहीं

क्रान्ति

क्रान्ति कोई मायूसी से पैदा हुआ दर्शन भी नहीं और न ही सरफ़रोशों का कोई सिद्धान्त है हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन का घोषणापत्र’ लाहौर कांग्रेस में बाँटे गये इस दस्तावेज़ को भगतसिंह और अन्य साथियों से विचार-विमर्श के बाद मुख्य रूप से भगवतीचरण वोहरा ने लिखा था। दुर्गा भाभी और …

Read More »

मलेरिया का तो नाम ही mal (खराब) + aria (हवा) इसलिए पड़ा

louis pasteur : मलेरिया

जानें उन महान वैज्ञानिकों को जिन्होंने मानवता के लिए अपने प्राणों की भी बाजी  लगा दी जैसे मलेरिया मलेरिया का तो नाम ही mal (खराब) + aria (हवा) इसलिए पड़ा! आज अधिकतर लोग जानते हैं कि संक्रामक रोग सूक्ष्म जीवों की वजह से होते हैं। लेकिन हमेशा ऐसा नहीं था। …

Read More »

आइसा ने BHU में छात्राओं पर हुए बर्बर लाठीचार्ज के विरोध में निकाले “बेख़ौफ़ मार्च”

आइसा के आह्वान पर छात्र- छात्राओं का "बेख़ौफ़ मार्च"

बीएचयू में संघर्षरत छात्राओं पर हुए बर्बर लाठीचार्ज के विरोध में आइसा ने निकाले “बेख़ौफ़ मार्च” 25 सितम्बर 2017, इलाहाबाद. बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में यौन उत्पीड़न व अपनी सुरक्षा की मांग कर रही छात्राओं पर बर्बर लाठीचार्ज व उनको छात्रावासों से बेदखली के खिलाफ आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय में ऑल इंडिया …

Read More »

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों का BHU छात्राओं के समर्थन में बड़ा आगाज

इलाहाबाद विश्वविद्यालय

BHU छात्राओं के समर्थन में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों ने किया बड़ा आगाज। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अपने हक़ की लड़ाई लड़ रही छात्राओं के ऊपर जिस तरह से विश्वविद्यालय प्रशासन ने इतनी बेरहमी से लाठीचार्ज किया यह इस बात का गवाह है कि अब केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा …

Read More »

BHU छात्राओं पर रात बारह बजे के करीब लाठीचार्ज की रिपोर्ट वहां मौजूद पत्रकार से

मैं BHU से बोल रहा हूं. Siddhant Mohan यहां BHU के अंदर महिला महाविद्यालय है. रात बारह के करीब पुलिस ने जिलाधिकारी की मौजूदगी में बीएचयू के मेन गेट पर बैठे छात्रों और छात्राओं पर लाठीचार्ज कर दिया. लड़के भागे अंदर. तो पुलिस ने भी दौड़ा लिया अंदर तक. लड़कियां …

Read More »

अछूत का सवाल : शहीद भगतसिंह का जाति के प्रति नजरिया

अछूत का सवाल

अछूत का सवाल : इन लेखों को कहीं आगे फॉरवर्ड करने से पहले खुद जरूर पढ़िए। WhatsApp/facebook पर लोगों की आदत होती है कि कोई अच्छी चीज देखते हैं तो फॉरवर्ड करते हैं और उसके बाद खुद ही भूल जाते हैं। भगत सिंह को सच्ची सलामी यही हो सकती है …

Read More »

राष्ट्रीय परीक्षा NIIT की वेदी पर समान अवसर की बात एक छलावा -पराग वर्मा

अनीता NIIT

राष्ट्रीय परीक्षा NIIT की वेदी पर समान अवसर की बात एक छलावा एक मज़दूर की बेटी की बलि! पूँजीवादी व्यवस्था में सभी विद्यार्थियों के लिए मौजूदा पूँजीवादी समाज में अधिकांश लोगों की ये धारणा होती है कि किसी को जीवन में जो कुछ हासिल होता है चाहे वो उच्च पढ़ाई …

Read More »

असेम्बली में क्या वास्तव में बम फेंके गये थे, यदि हाँ तो क्यों?

असेम्बली

28 सितंबर को भारत के महान क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह की जयंती है। भगत सिंह भारत के उन चंद क्रांतिकारियों में से हैं जिनका नाम देश का बच्चा बच्चा जानता है। हर चुनावबाज पार्टी भगत सिंह को याद करती है पर क्या सचमुच वो भगत सिंह के सपनों का भारत …

Read More »

मानव का स्वभाव मूलरूप से विनाशकारी है, पर्यावरणविद व वैज्ञानिक के तर्क -नवमीत

मानव का स्वभाव

मानव का स्वभाव मूलरूप से विनाशकारी है, पूँजीवाद और महाविनाश की आहट पृथ्वी यूँ तो ब्रह्माण्ड का एक बहुत ही छोटा सा हिस्सा है। लेकिन साथ ही यह सबसे विशिष्ट हिस्सा भी है। इस विशिष्टता का कारण यह है कि पृथ्वी ही एकमात्र ज्ञात स्थान है जहाँ ब्रह्माण्ड की सबसे …

Read More »

भगत सिंह । मेरा साथी, मित्र और नेता (एक यादगार पल) : शिव वर्मा

भगत सिंह

एक दिन प्रात: जब मैं कमरे में बैठा कालेज का काम पूरा कर रहा था तो सुना बाहर पड़ोसी से कोई मेरा पता पूछ रहा है। अपना नाम सुनकर मैं बाहर निकल आया, देखा मैला शलवार-कमीज पहने कम्बल ओढ़े एक सिख नौजवान ( भगत सिंह ) सामने खड़ा है- लंबा कद, …

Read More »

कमजोर : विश्‍व प्रसिद्ध कथाकार अंतोन चेखव की लघुकथा …(हिसाब चुकता)

कमजोर

कमजोर : आज मैं अपने बच्चों की अध्यापिका यूलिमा वार्सीयेव्जा का हिसाब चुकता करना चाहता था। ”बैठ जाओ, यूलिमा वार्सीयेव्जा।” मेंने उससे कहा, ”तुम्हारा हिसाब चुकता कर दिया जाए। हाँ, तो फैसला हुआ था कि तुम्हें महीने के तीस रूबल मिलेंगे, हैं न?” ”नहीं,चालीस।” ”नहीं तीस। तुम हमारे यहाँ दो …

Read More »

मेक इन इण्डिया ’ : वीवो इण्डिया में मज़दूरों का शोषण और उत्पीड़न

मेक इन इण्डिया

मेक इन इण्डिया ’ वीवो इण्डिया में मज़दूरों का शोषण और उत्पीड़न सिजो जॉय और अनुष्का सिंह सचिव, पीयूडीआर मेक इन इण्डिया ’ अभियान और बहुराष्ट्रीय कम्पनियों को भारत में निर्माण करने के लिए न्यौता देने से रोज़गार पैदा होने के इसके दावे को काम के भयावह और अमानवीय ‘अवसरों’ …

Read More »

हे नारद, मेरी सुनो (कविता) – उदय मोहन पाठक (अधिवक्ता)

हे नारद

हे नारद ‘ : आजादी के इतने वर्ष बीत जाने जाने के बाद भी जब शोषित, पीड़ित, गरीब, लोगों को देखता हूँ तो मन में एक भाव आता है कि कोई ऐसा बहुजन हिताय कार्य करने वाला मसीहा अवतरित हो जो इनके पीड़ा को हर ले और समाज में समानता …

Read More »

न्यूजीलैंण्ड के एक लेखक ! भारत में व्यापक रूप से फैंलें भष्टाचार पर -विनोद कुमार

ब्रयान, न्यूजीलैंण्ड

दुनिया के भ्रष्टाचार मुक्त देशों में शीर्ष पर गिने जाने वाले न्यूजीलैंण्ड के एक लेखक ब्रायन ने भारत में व्यापक रूप से फैंलें भष्टाचार पर  एक लेख लिखा है। न्यूजीलैंण्ड का यह लेख सोशल मीडि़या पर काफी वायरल हो रहा है। न्यूजीलैंण्ड के इस लेख की लोकप्रियता और प्रभाव को …

Read More »

हर साल की भांति इस साल भी (व्यंग्य) –उदयमोहन पाठक (अधिवक्ता)

हर साल की भांति इस साल भी

हर साल की भांति इस साल भी यह संवाद सूनते-सुनते अरसा गुजर गया। कभी उकताहट होती है कि लोग इसे बदलते क्यों नहीं? एक जगह ग्रामीण मेला लगा हुआ था। मेले में ही माइॅक से आवाज गूँज रही थी। ‘‘ हर साल की भांति इस साल भी’ सुनकर अच्छा लगा …

Read More »

हिंदी दिवस की साजिश से बाहर निकलकर अंग्रेजी पढ़ना शुरू करो- सूरज कुमार बौद्ध

हिंदी दिवस

शासकों के ‘ हिंदी दिवस ‘ की साजिश से बाहर निकलकर अंग्रेजी पढ़ना शुरू करो- सूरज कुमार बौद्ध भाषाओं का दिवस मनाने से भाषाएं राष्ट्रीय या अंतराष्ट्रीय नहीं होती हैं। जिस भाषा में लचीलता होती है वह स्वतः जनमानस को स्वीकार्य हो जाता है। हिंदी भाषा अंग्रेजी के मुकाबले कठिन …

Read More »

चिलकोट रिपोर्ट : कभी-कभी मच्छर को मारने के लिये तोप का इस्तेमाल किया जाता है

चिलकोट रिपोर्ट

चिलकोट रिपोर्ट: च्यूँटी तक नहीं काटती -शिवार्थ पाठकों की जानकारी के लिए – चिलकोट जांच कमेटी या इराक जांच कमेटी ब्रिटिश सरकार द्वारा इराक युद्ध में भागीदारी की जांच पड़ताल करने के लिए बनायी कमेटी थी। ये 2009 में बनी थी व 2016 में इसने अपनी रिपोर्ट को सार्वजनिक किया। …

Read More »