Breaking News
Home / सुविचार

सुविचार

आज के सुविचार

जिन्दगी के दो solution है:- 1)भाग लो(run away) 2)भाग लो(participate) This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

Read More »

आज के सुविचार

हौसले के तरकस में कोशिश का वो तीर ज़िंदा रखो हार जाओ चाहे ज़िंदगी में सब कुछ लेकिन फिर से जीतने की उम्मीद ज़िंदा रखो । This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

Read More »

आज के सुविचार

जिसे समय का सदुपयोग करने की कला आ गई, उसने सफलता के रहस्य को समझ लिया है | This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

Read More »

आज के सुविचार

जीना है तो अपने हिसाबसे जिओ लोगों की सोच का क्या, वो परिस्थितियों के हिसाब से बदलती रहती है, अगर चाय में मक्खी गिरे तो लोग चाय फेंक देते हैं, और अगर देसी घी में गिरे तो लोग घी नहीं बल्कि मक्खी को फेंक देते हैं | This post was …

Read More »

आज के सुविचार

रेस मे जीतने वाले घोडे को तो पता भी नही होता कि जीत वास्तव मे क्या है, वो तो अपने मालिक द्वारा दी गई तकलिफ कि वजह से ही दौडता है… इसलिए यदि आपके जीवन मे कभी कोई तकलिफ आए तो समझ लेना कि आपका उपरवाला आपको जीताना चाहता है …

Read More »

आज के सुविचार

*चील की ऊँची उड़ान देखकर चिड़िया कभी डिप्रेशन में नहीं आती,* *वो अपने आस्तित्व में मस्त रहती है,* *मगर इंसान, इंसान की ऊँची उड़ान देखकर बहुत जल्दी चिंता में आ जाते हैं।* *तुलना से बचें और खुश रहें*। *ना किसी से ईर्ष्या , ना किसी से कोई होड़..!!!* *मेरी अपनी …

Read More »

आज के सुविचार

इस बात की चिंता मत करो की लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं , वो तो इसमे ही व्यस्त है की आप उनके बारे मे क्या सोचते हैं……. This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our …

Read More »

आज के सुविचार

जीवन का सबसे बड़ा गुरु वक्त होता है, क्योंकि वक्त जो सिखाता है, वो कोई नहीं सिखा सकता………….. This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

Read More »