Breaking News
Home / सूरज कुमार बौद्ध

सूरज कुमार बौद्ध

osh_author

इतिहास के क्रूर पन्नों में हमारी सिसकियां गायब हैं: सूरज कुमार बौद्ध

इतिहास

इतिहास के क्रूर पन्नों में भीमा कोरेगांव युद्ध तथा खरसावां गोली कांड की शहादत : सूरज कुमार बौद्ध जबकि पूरा विश्व नए साल के जश्न में डूबा हुआ है वहीं कुछ ऐसे घटनाएं भी हैं जो हमारे रगों में जोश और उद्गार की लहरें उत्पन्न करती हैं। हजारों सालों से …

Read More »

संविधान विरोधी बयान पर अनंत हेगड़े का भारतीय मूलनिवासी संगठन ने लिया संज्ञान ! 

संविधान- सूरज बौद्ध

संविधान विरोधी बयान -सूरज कुमार बौद्ध का प्रेसिडेंट, पी०एम० और चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया के नाम खुला ख़त ! संगठन के राष्ट्रीय महासचिव सूरज कुमार बौद्ध का प्रेसिडेंट, पी०एम० और चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया के नाम खुला ख़त ! सेवा में, 1-महामहिम राष्ट्रपति भारत सरकार   2-मा० प्रधानमंत्री भारत सरकार  3-मा० …

Read More »

झारखंड में एक बेटी की मौत नहीं बल्कि रोटी की मौत: सूरज कुमार बौद्ध

एक बेटी की मौत नहीं बल्कि रोटी की मौत

परिवार का राशन कार्ड, पहचान पत्र न होने के चलते रद्द कर दिया गया था। इंसान कितना स्वार्थी और निर्दयी हो चुका है कि आधार कार्ड न होने की वजह से 11 साल की बच्ची को भूख की वजह से मौत का मुंह देखना पड़ता है। धिक्कार है ऐसी मानसिकता पर। मौत बेटी की नहीं, यह रोटी की मौत है। आइए पढ़ते हैं सूरज कुमार बौद्ध की कविता "रोटी की मौत"।

Read More »

पाखण्डवाद का पर्दाफाश करती उदय कुमार की कविता – ये है कैसा करवाचौथ..?

पाखण्डवाद का पर्दाफाश

पाखण्डवाद का पर्दाफाश करती यह कविता – ” ये है कैसा करवाचौथ..?” यह तथ्य है कि अपने पुरखों की प्रेरणा को मुकम्मल मकाम तक पहुंचाते बाबा साहेब अंबेडकर ने भारत की महिलाओं को ब्राम्हणवाद की चंगुल से मुक्त कराया। उठने , पढ़ने-लिखने, नौकरी करने, अपनी बात रखने , प्रसव के …

Read More »

धर्मशास्त्र द्वारा आधी-आबादी का दमन ( अगर मांगने से दुआ कबूल होती) -कविता

धर्मशास्त्र द्वारा आधी-आबादी का दमन

धर्मशास्त्र से आधी आबादी को अपने हक़ के लिए लड़ने को प्रेरित करती सूरज कुमार बौद्ध की कविता : -अगर मांगने से दुआ कबूल होती। धर्मशास्त्र : हजारों सालों से धर्मशास्त्रों के माध्यम से इस देश के आधी आबादी का दमन होता रहा। मनुस्मृति जैसे धर्मशास्त्र इस उत्पीड़न को धर्म …

Read More »

आइसा ने BHU में छात्राओं पर हुए बर्बर लाठीचार्ज के विरोध में निकाले “बेख़ौफ़ मार्च”

आइसा के आह्वान पर छात्र- छात्राओं का "बेख़ौफ़ मार्च"

बीएचयू में संघर्षरत छात्राओं पर हुए बर्बर लाठीचार्ज के विरोध में आइसा ने निकाले “बेख़ौफ़ मार्च” 25 सितम्बर 2017, इलाहाबाद. बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में यौन उत्पीड़न व अपनी सुरक्षा की मांग कर रही छात्राओं पर बर्बर लाठीचार्ज व उनको छात्रावासों से बेदखली के खिलाफ आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय में ऑल इंडिया …

Read More »

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों का BHU छात्राओं के समर्थन में बड़ा आगाज

इलाहाबाद विश्वविद्यालय

BHU छात्राओं के समर्थन में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों ने किया बड़ा आगाज। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में अपने हक़ की लड़ाई लड़ रही छात्राओं के ऊपर जिस तरह से विश्वविद्यालय प्रशासन ने इतनी बेरहमी से लाठीचार्ज किया यह इस बात का गवाह है कि अब केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा …

Read More »

हिंदी दिवस की साजिश से बाहर निकलकर अंग्रेजी पढ़ना शुरू करो- सूरज कुमार बौद्ध

हिंदी दिवस

शासकों के ‘ हिंदी दिवस ‘ की साजिश से बाहर निकलकर अंग्रेजी पढ़ना शुरू करो- सूरज कुमार बौद्ध भाषाओं का दिवस मनाने से भाषाएं राष्ट्रीय या अंतराष्ट्रीय नहीं होती हैं। जिस भाषा में लचीलता होती है वह स्वतः जनमानस को स्वीकार्य हो जाता है। हिंदी भाषा अंग्रेजी के मुकाबले कठिन …

Read More »

SOCIAL MEDIA : अब साहब को सोशल मीडिया से एलर्जी होने लगी -सूरज कुमार बौद्ध

SOCIAL MEDIA

अमित शाह……ब जी, अब सोशल मीडिया ( SOCIAL MEDIA ) से इतनी बौखलाहट क्यों नेताओं की सियासत -बोलो मत, सिर्फ झेलो। राजनीति भी अजीब होती है। राजनेता तो उससे भी अजीब होते हैं। दरअसल राजनीति एक बिजनेस की तरह है। जैसे बिजनेसमैन कोई भी बात अपने नफे-नुकसान के आधार पर …

Read More »

भीम युद्ध की आहट को अब पहचान लेना चाहिए: बेजुबानों ने बोलना शुरु कर दिया

भीम युद्ध

भीम युद्ध की आहट: भविष्य का समतामूलक समाज दिखाई दे रहा है…: सूरज कुमार बौद्ध देश को तथाकथित नजरिए से ही सही पर आजाद हुए 70 साल हो चुके हैं लेकिन भारत की बहुसंख्य आबादी आज भी दाने दाने को मोहताज है। भारत की गिनती आज भी भूखमरी से पीड़ित …

Read More »

कलमकारों के क़त्ल पर रूह कुरेदती सूरज कुमार बौद्ध की कविता – कलम की आवाज़

कलमकारों के क़त्ल

कलमकारों के क़त्ल पर रूह कुरेदती सूरज कुमार बौद्ध की कविता – कलम की आवाज़ (नरेंद्र दाभोलकर, कलबुर्गी, पनसारे,……. और अब गौरी लंकेश) नरेंद्र दाभोलकर, कलबुर्गी, पनसारे,……. और अब गौरी लंकेश। आए दिन अनेक लेखकों, पत्रकारों, कलमकारों को मौत की घाट उतार दिए जा रहे हैं। इन बेबाक आवाजों का …

Read More »

नेता …ओं की बेतुकी बयानबाजी इंसानियत के चेहरे पर गहरा तमाचा मारती है!

नेता ...ओं की बेतुकी बयानबाजी

हिंसा के लिए कोर्ट को जिम्मेदार बताने वाले नेता नगरी अदालत की अवमानना के असली गुनहगार है- सूरज कुमार बौद्ध सीबीआई की पंचकूला अदालत ने जैसे ही ढोंगी बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार का अपराधी ठहराया वैसे ही पंजाब और हरियाणा में बलात्कारी बाबा के भक्तों ने कानून …

Read More »

धर्म : फ़रिश्ते के भेष में महिलाओं की इज्जत लूटते स्वघोषित धार्मिक ठेकेदार

धर्म :राम-रहीम

पंचकूला की सीबीआई अदालत द्वारा गुरमीत राम रहीम को 15 साल पुराने मामले में अपने ही डेरा के साध्वी के बलात्कार का दोषी करार दिया। अन्य घटनाओं से हटकर इस बार इनके भक्तों ने सन्नाटा नहीं बल्कि आतंक और दहशत को जन्म दिया है। धर्म भी अजीब चीज होती है। …

Read More »

बौद्ध, अंबेडकर, गौतम जैसे सरनेम साहस की बात है: सूरज कुमार बौद्ध

बौद्ध

बौद्ध, अंबेडकर, गौतम, भीमपुत्र/ भीमपुत्री जैसे सरनेम साहस की बात है: सूरज कुमार बौद्ध बौद्ध, गौतम, अंबेडकर… सुबह सुबह उठकर जैसे ही WhatsApp खोला तो देखा कि तभी एक साथी ने मैसेज किया हुआ था कि वह लोग जो अपने नाम के साथ बौद्ध, गौतम, अंबेडकर, भीम पुत्र एवं भीमपुत्री …

Read More »

बाबा साहेब डॉ० भीमराव आंबेडकर का अपमान मत करो: इं. डी. प्रकाश गौतम

बौद्ध

जैसा कि सभी जानते हैं कि बाबा साहेब डॉo भीमराव आंबेडकर विश्वरत्न है। बाबा साहेब डॉ० आंबेडकर पूरी दुनिया में अपने त्याग, समर्पण, मानवतावादी दृष्टिकोण, शोषितों के मसीहा, शिक्षा, संगठन और संघर्ष की बदौलत जाने जाते हैं। सर्वविदित है कि बाबा साहेब डॉ0 भीमराव आंबेडकर से बड़ा विद्धवान अभी तक …

Read More »

बच्ची गोद लेने पर सनी लियोन को गाली देने वाले लोग मनुवादी हैं: सूरज कुमार बौद्ध

पुरुषवादी समाज महिलाओं के प्रति अपनी संकुचित मानसिकता को बदलने का नाम नहीं ले रहा। महिलाओं को दोयम दर्जे का नागरिक माना जाना तथा उनकी आजादी पर पाबंदी पुरुषवादी समाज का प्रमुख अंश है। अब सवाल यह होता है कि समाज कब मानेगा कि एक औरत को वेश्या बनने पर …

Read More »

निर्वाचन कार्ड एवं ईवीएम को आधार कार्ड से लिंक करने की जरूरत- सूरज कुमार बौद्ध

राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। श्री रामनाथ कोविंद जी भारत के अगले राष्ट्रपति होंगे। मैं कुछ आगे लिखूं इससे पहले श्री रामनाथ कोविंद को भारत के राष्ट्रपति चुने  जाने पर मेरा हार्दिक बधाई एवं मंगलकामनाएं। राष्ट्रपति चुनाव एवं बैलेट पेपर का इस्तेमाल राष्ट्रपति चुनाव में जनप्रतिनिधियों द्वारा बैलेट …

Read More »

चाइनीज सामान के बहिष्कार के पीछे छिपी हुई तुच्छ  राजनीतिक मंशा- सूरज कुमार बौद्ध

चीनी सामान का बहिष्कार करो, चीनी झालर का बहिष्कार करो, मिट्टी वाले दिया जलाओ, स्वदेशी अपनाओ विदेशी भगाओ……. आदि। पिछले कुछ सालों से इस तरह की राजनीति खूब चमकाई जा रही है। जैसे दीपावली आती है तो कुछ चीनी झालर का विरोध करने लगेंगे, होली के आते ही चीनी रंगों …

Read More »

हम बढ़ते चलेंगे – सूरज कुमार बौद्ध 

अगर मानव अधिकारों के उल्लंघन को एक आधार मानकर देखा जाए तो भारत की पहचान एक जातीय हिंसा और उत्पीड़नकारी देश के रुप में की जाती है। यहां प्रधान से लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय तक, पंचायत से लेकर सर्वोच्च न्यायालय तक हर जगह जातिवाद समाहित है। यह जातिवाद का दंश ही …

Read More »

दुनिया को आतंकवाद से खतरा है छाया आतंकवाद से नहीं- सूरज कुमार बौद्ध

आतंकवाद की चर्चा जोरों पर है। लोग आतंकवाद की अलग-अलग परिभाषाएं भी बना लिए हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो  आतंकवाद को अच्छा आतंकवाद और बुरा आतंकवाद के रूप में देखते हैं। हद तो तब होती है जब अपने आप को पढ़ा लिखा और  राष्ट्रभक्त बताने वाले उच्चकोटि …

Read More »