Breaking News

Recent Posts

घरेलू मज़दूरों को आखिर न्याय कब देगी यह सरकार

घरेलू मज़दूरों

सोशल अलर्ट की 2008 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार देश भर में घरेलू मज़दूरों की कुल संख्या 10 करोड़ के क़रीब थी। जो कि बढ़ते शहरीकरण के वजह से अबतक लगभग तीगुनी हो गयी होगी। इसमें अधिक संख्या औरतों की है, साथ ही निसंदेह लाखों बच्चे भी शामिल हैं। …

Read More »

युद्ध की ज़रूरत जितनी मोदी को है उतनी ही इमरान खान को भी

युद्ध की ज़रूरत

युद्ध की ज़रूरत फासीवादी सरकारों को क्यों  आज सीमित युद्ध की ज़रूरत जितनी भाजपा-मोदी को है उतनी ही इमरान खान को भी है। उसके पॉपुलिस्ट नारों की भी हवा मोदी के जुमलों की तरह चन्द महीनों में ही निकल गयी है। आवाम अब उसे सेना की कठपुतली समझती है। भारत …

Read More »

आदिवासियों-मूलवासियों के साथ भाजपा ने फिर किया विश्वासघात

आदिवासियों-मूलवासियों

आदिवासियों-मूलवासियों के साथ ऐसा क्यों किया इस सरकार ने  देश में पुलवामा आतंकी हमले की घटना के बाद जो कुछ हो रहा है उस पर ठीक से विचार करते हुए आग्रह है कि वह इस लेख को ध्यान से पढ़ें और विचार करें। सेक्युलर, तरक्की पसंद, लोकतांत्रिक चेतना वाले नागरिकों …

Read More »
  • “मैं हूँ नेता “

    पहले कीमतें मैंने बढाई फिर मैंने कहा मेरे पास जादू की छड़ी नहीं है भाई जो मैंने यूँ घुमाई और खत्म हो जाएगी महंगाई मैं हूँ नेता , कुछ नही देता बस लेता ही लेता कभी मैं तुमसे नोट लेता कभी मैं तुमसे वोट लेता और बदले में लूट लेता …

    Read More »