Breaking News
Home / Tag Archives: #jharkhand

Tag Archives: #jharkhand

अभाविप (ABVP) में आदिवासी छात्रों के होने के राजनीतिक मायने

अभाविप ( ABVP )

सरकार ने पारा शिक्षकों से सीधा कहा हड़ताल समाप्त किये बिना कोई बात नहीं होगी जैसे ख़बरों के बीच रांची विश्व विद्यालय छात्र संघ चुनाव में कुल 80 पदों के लिए चुनाव हुए जिसमे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के प्रत्यासियों ने 80 पदों में से 42 पदों में जीत कर …

Read More »

आदिम जनजातियां हासिये पर: इनके हक़ के लिए बुलंद आवाज की जरूरत!

आदिम

वर्तमान झारखंड में अनुसूचित जनजाति की सूची के अंतर्गत 32 जनजातियों में से 9 आदिम जनजाति की श्रेणी में आते हैं। झारखंड में 1961 के दशक में इन जनजातियों का आबादी करीब 2,50,000 थी जो वर्तमान घटकर महज 2,00,000 के भीतर रह गई है। अद्यतन आंकड़े के अनुसार इस समय …

Read More »

झारखंड भाजपा ने स्पष्ट कर दिया कि उनका अगला मुख्यमंत्री भी गैर आदिवासी !

झारखंड भाजपा

झारखंड भाजपा ने साफ़ कर दिया कि उनका अगला मुख्यमंत्री भी अर्जुन मुंडा नहीं  -रायमुल बान्डरा  … भाजपा चुनाव प्रभारी भूपेंद्र यादव यह कहने से नहीं चुके कि झारखंड में पार्टी का मुख्‍यमंत्री चेहरा फिर होंगे  रघुवर दास, अपने आप में गहरी राजनीतिक अर्थ समेटे प्रतीत होता है। झारखण्ड में …

Read More »

ज्योतिराव फुले : क्यों दलित-आदिवासी-मूलवासी के प्रतीकों को भूल जाती है रघुवर सरकार ?

ज्योतिराव फुले स्त्री मुक्ति के द्योतक

ज्योतिराव फुले स्त्री मुक्ति के द्योतक : क्यों दलित-आदिवासी-मूलवासी के प्रतीकों याद करना भूल जाती है रघुवर सरकार ? ज्योतिराव फुले जी की पूण्यतिथि झारखंड में भी दलित संस्थाओं समेत कई अन्य सस्थानों ने मनाई, लेकिन अचंभित यह है कि झारखंड सरकार ने इन्हें याद करना जरूरी नहीं समझा। यह …

Read More »

झारखंड में बिजली की हालत करेगी रघुबर सरकार की बत्ती गुल

झारखंड में बिजली की हालत करेगी रघुबर सरकार की बत्ती गुल

झारखंड में बिजली की हालत  झारखंड में बिजली सुधार के नाम पर रघुबर सरकार लंबी-लंबी फेंकती रही हैं, कभी कहती है कि राज्य के पूरे गांवों में बिजली पहुंचा दी गई है, कभी कहती हैं कि काम जारी है, कभी कहती है कि बिजली की सेवा, नवम्बर तक सामान्य हो जायेगी, …

Read More »

कोलेबिरा उपचुनाव में एक सशक्त महिला नेतृत्व की जरूरत

कोलेबिरा उपचुनाव में एक सशक्त महिला नेतृत्व की जरूरत

कोलेबिरा उपचुनाव की सरगर्मी ने यहाँ की जनता में एक नए उम्मीद को हवा दे दी है। यहाँ के हालात चीख-चीख कर गवाही दे रहे हैं कि संकट के इस अँधेरे को नये बदलाव के बूते ही चीरा जा सकता है। कोलेबिरा विधानसभा चुनावों में अब तक पुरुष प्रधान समाज …

Read More »