Breaking News
Home / Tag Archives: OSH

Tag Archives: OSH

special

आज के सुविचार

जिसे समय का सदुपयोग करने की कला आ गई, उसने सफलता के रहस्य को समझ लिया है | This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our views and opinions.

Read More »

आज के सुविचार

जीना है तो अपने हिसाबसे जिओ लोगों की सोच का क्या, वो परिस्थितियों के हिसाब से बदलती रहती है, अगर चाय में मक्खी गिरे तो लोग चाय फेंक देते हैं, और अगर देसी घी में गिरे तो लोग घी नहीं बल्कि मक्खी को फेंक देते हैं | This post was …

Read More »

पाचन शक्ति को सुदृढ़ रखें

स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग के निर्माण में सहायक होता है। स्वस्थ रहने की पहली शर्त है आपकी पाचन शक्ति का सुदृढ़ होना। भोजन के उचित पाचन के अभाव में शरीर अस्वस्थ हो जाता है, मस्तिष्क शिथिल हो जाता है और कार्यक्षमता को प्रभावित करता है। जिस प्रकार व्यायाम में अनुशासन …

Read More »

भाइयों के होते एक बहन की अस्मत कैसे लुट सकती है

रोहित ,प्रभात और चिराग कोचिंग से लौट रहे थे . प्रभात की नज़र तभी सुनसान पड़ें खाली प्लॉट में चार लड़कों से घिरी मदद के लिए पुकारती लड़की पर गयी . प्रभात ने अपना बैग कंधें से उतार कर सड़क पर फेंका और ”मेरी बहन को छोड़ दो कमीनों ” …

Read More »

माँ-बाप

देशी घी की खुशबू धीरेधीरे पूरे घर में फैल गई. पूर्णिमा पसीने को पोंछते हुए बैठक में आ कर बैठ गई। ‘‘क्या बात है पूर्णि, बहुत बढि़या-बढि़या पकवान बना रही हो। काम खत्म हो गया है या कुछ और बनाने वाली हो?’’ ‘‘सब खत्म हुआ समझो, थोड़ी सी कचौड़ी और …

Read More »

आज के सुविचार

रेस मे जीतने वाले घोडे को तो पता भी नही होता कि जीत वास्तव मे क्या है, वो तो अपने मालिक द्वारा दी गई तकलिफ कि वजह से ही दौडता है… इसलिए यदि आपके जीवन मे कभी कोई तकलिफ आए तो समझ लेना कि आपका उपरवाला आपको जीताना चाहता है …

Read More »

राहुल सांकृत्यायन का लेख – तुम्हारी जात-पाँत की क्षय

हमारे देश को जिन बातों पर अभिमान है, उनमें जात-पाँत भी एक है। दूसरे मुल्कों में जात-पाँत का भेद समझा जाता है भाषा के भेद से, रंग के भेद से। हमारे यहाँ एक ही भाषा बोलने वाले, एक ही रंग के आदमियों की भिन्न-भिन्न जातें होती हैं। यह अनोखा जाति-भेद …

Read More »

RTI (Right To Information) के बारे में जाने

RTI (Right To Information) मलतब है सूचना का अधिकार – ये कानून हमारे देश में 2005 में लागू हुआ।जिसका उपयोग करके हम  सरकार और इसके  किसी भी विभाग से सूचना मांग सकते है। आमतौर पर लोगो को इतना ही पता होता है, परंतु आज मैं  इस के बारे में कुछ …

Read More »

आज के सुविचार

इस बात की चिंता मत करो की लोग आपके बारे में क्या सोचते हैं , वो तो इसमे ही व्यस्त है की आप उनके बारे मे क्या सोचते हैं……. This post was written by sanjay dash. The views expressed here belong to the author and do not necessarily reflect our …

Read More »

गाँव बाला महुआ की त्रासदी

रामगढ : रुना मिश्रा शुक्ला : जिले के मांडू प्रखंड अंतर्गत बसंतपुर पंचायत का छोटा गाँव बाला महुआ। गाँव की आबादी 800 । गाँव  के चारो ओर जंगल और उसके आगे हरा-भरा झुमरा पहाड़। रामगढ़ मुख्यालय से बसंतपुर की दूरी मात्र 30 किमी और बसंतपुर से बाला महुआ गाँव  की …

Read More »

“ईश्वर* नहीं है।”

मुझे पता है कि दुनिया में कोई दैवीय शक्ति नहीं है तो फिर क्यों आस्था के नाम पर हमें इनसे डराया जाता जो चीज नहीं है उसके होने और मानने के लिए आस्था का सहारा क्यों लिया जाता है मैं पूछता हूँ ये बेबुनियाद तर्क किसने इजाद किए कि ईश्वर* …

Read More »

बरसात के दिनों में स्वस्थ बने रहने के ज़रूरी टिप्स

अगर आप रोड के किनारे लगी हुयी दुकानों पर खाने के आदी हैं तो इस मौसम में अपनी इस आदत को रोक कर रखें क्योकि इन दिनों में इन्फेक्शन का खतरा बढ़ा होता है और असुरक्षित पानी आपको नुकसान पहुँचा सकता है। इन दिनों मच्छरों को अपने आसपास भी न …

Read More »

ब्रह्मचर्य का जीवन जीना सहज है

कामवासना मानवमन की सबसे बड़ी दुर्बलता है । जिन तीन तृष्णाओं के कारण वह भवनेत्री में बंधा रहता है उसमें कामतृष्णा प्रथम है , प्रमुख है । माता पिता के काम संभोग से मानव की उत्पत्ति होती है । अतः अंतर्मन की गहराइयों तक कामभोग का प्रभाव छाया रहता है …

Read More »

वर्षों पुरानी नीम पेड़ से दूध निकल रहा है

दैवीय चमत्कार या कुछ और ??? अजाज़ खान, गुमला, गुमला (जिला हेड क्वाटर), शहर से दो किमी दूर सोसो मोड़ है. यहां 50 वर्ष पुराने नीम के पेड़ से पिछले तीन दिनों से दूध निकल रहा है. कभी दूध निकलने की धार तेज होती है, तो कभी धीरे-धीरे दूध टपकता …

Read More »

कैंसर पीड़ितों का सहारा बने हरकचंद सावला कि चेरिटेबिल संस्था

करीब तीस साल का एक युवक मुंबई के प्रसिद्ध टाटा कैंसर अस्पताल के सामने फुटपाथ पर खड़ा था। युवक वहां अस्पताल की सीढिय़ों पर मौत के द्वार पर खड़े मरीजों को बड़े ध्यान दे देख रहा था, जिनके चेहरों पर दर्द और विवषता का भाव स्पष्ट नजर आ रहा था। …

Read More »

राष्ट्रपति का संबोधन वस्तु और सेवा कर का शुभारंभ संसद का केंद्रीय कक्ष 30 जून, 2017

30 जून, 2017 कि  मध्यरात्री को महामहिम राष्ट्रपति महोदय ने देश को संबोधन किया जिसमे उन्होंने निम्नलिखित बातों को रखा   १. हम अब से कुछ मिनटों में देश में एक एकीकृत कर प्रणाली लांच होते हुए देखेंगे। यह ऐतिहासिक क्षण दिसंबर 2002 में प्रारंभ हुई चौदह वर्ष पुरानी यात्रा …

Read More »

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (GST)

कौटिल्य की अमूल्य रचना अर्थशास्त्र के अनुसार, कर ऐसा हो कि व्यापार और उद्यम पर अंकुश न लगे, वाणिज्य में सुगमता हो और कर दो बार न लगे। कौटिल्य ने चेतावनी दी थी कि यदि इन सिद्धांतों का पालन नहीं हुआ, तो व्यापारी दूसरे राज्यों में चले जाएंगे। वैश्वीकरण के …

Read More »

नई पहल

भारतीय सेना के दो अधिकारीयों ने शादी में दिखावे पर पैसे खर्च नहीं करके, जरूरतमंद बच्चों और बुजुर्गो के साथ बांटी खुशियाँ आजकल लोग शादी ब्याह में सिर्फ दिखावे के लिए लाखों करोडों खर्च कर देते हैं लेकिन फिर भी उन्हें असली ख़ुशी नहीं मिल पाती है, वहीँ राँची के …

Read More »